BBT Times

Latest and Breaking News Samachar in Hindi from Bikaner

Covid19: भारत में जंग हार रहा है कोरोना, ये 10 इशारे किसी सबूत से कम नहीं !

1 min read

BBT Times ,



कोरोना वायरस (Coronavirus in India) की वजह से एक ओर जहां लॉकडाउन (Lockdown in India) से लोग परेशान हैं, वहीं हर रोज कोरोना के संक्रमण से जुड़ी खबरें उनकी चिंता और बढ़ाने का काम कर रही हैं। इसकी वजह से 17 हजार से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि मरने वालों की संख्या भी 550 के करीब जा पहुंची है। हर रोज कोरोना के संक्रमण और इससे होने वाली मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। इसी बीच कुछ ऐसे संकेत सामने आए हैं, जो इशारा कर रहे हैं कि कोरोना के हारने का वक्त अब दूर नहीं है।

1- रिकवरी रेट में हुई बढ़ोतरी
देश में 2500 से भी अधिक लोग अब तक सही होकर घर वापस जा चुके हैं। करीब दो हफ्ते पहले तक भारत की रिकवरी दर 8 फीसदी थी, जो अब बढ़कर 14 फीसदी हो गई है। यानी कि हर 100 में से 14 मरीज अब ठीक होकर घर जा रहे हैं, जो एक अच्छा संकेत है कि कोरोना हारने की कगार पर है। शनिवार को ये दर 13.85 फीसदी थी, जबकि शुक्रवार को ये दर 13 फीसदी थी।

2- 325 जिलों में कोई मामला नहीं
अगर कोरोना वायरस के मामलों की बात की जाए तो देश के कुल 736 जिलों में से 411 ऐसे जिले हैं, जिनमें रविवार तक एक भी मामला सामने नहीं आया था। यानी करीब आधे देश में कोरोना का एक भी मामला नहीं है। ऐसे में भले ही हर रोज कोरोना संक्रमण और मौत के आंकड़े बढ़ रहे हों, लेकिन इस बात से खुशी मिलना स्वाभाविक है कि अभी भी आधा देश पूरी तरह सुरक्षित है।

3- कोरोना से मुक्त हुआ गोवा
रविवार को ही गोवा ने घोषणा की थी कि राज्य अब कोरोना मुक्त हो चुका है। राज्य में कुल 7 मामले सामने आए थे, जिसमें से 6 पहले ही ठीक हो चुके थे और रविवार को सातवें मरीज की भी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

4- मणिपुर को भी मिली कोरोना से मुक्ति
रविवार का दिन गोवा के लिए खुशखबरी वाला था और सोमवार को उसी खुशखबरी ने मणिपुर की दहलीज पर दस्तक दी है। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा है- ‘मुझे ये बताते हुए खुशी हो रही है कि अब मणिपुर भी कोरोना से मुक्त हो चुका है। यहां कोई नया मामला सामने नहीं आया है, वहीं पहले के दोनों मरीज ठीक हो चुके हैं और उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। ये सब सिर्फ इसलिए मुमकिन हो सका क्योंकि जनता और मेडिकल स्टाफ ने सहयोग किया और मोदी सरकार ने सख्त लॉकडाउन कर के कोरोना को रोका।’

5- यूपी के ये जिले भी कोरोना मुक्त घोषित
हाल ही में यूपी ने भी ये घोषणा की है कि पीलीभीत, महाराजगंज और हाथरस में कोरोना मुक्त हैं। इस बात की सूचना राज्य के मुख्य स्वास्थ्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने दी। उन्होंने कहा कि पीलीभीत, महाराजगंज और हाथरस में अब एक भी मरीज नहीं हैं, वहां के सभी मरीज पूरी तरह से ठीक होकर घर लौट चुके हैं। इनके अलावा प्रयागराज भी कोरोना मुक्त हो चुका है।

6- मामले दोगुने होने की रफ्तार घटी
सरकार का कहना है कि दूसरे देशों के मुकाबले कोरोना से जंग में भारत का रिकॉर्ड काफी बेहतर है। लॉकडाउन से पहले कोरोना के मरीज तीन दिन में दोगुने हो रहे थे। अब केस दोगुने होने में औसतन 6.2 दिन लग रहे हैं। 19 राज्यों में तो यह इससे भी ज्यादा है। इन राज्यों में केरल, असम, तमिलनाडु, पंजाब, यूपी, हरियाणा, लद्दाख, दिल्ली, चंडीगढ़ आदि शामिल हैं।

7- कोरोना से जंग जीतने का प्रतिशत बेहतर
स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कहा कि जो लोग कोरोना से जंग हार रहे है, उनमें से अधिकतर 63 साल से ज्यादा की उम्र के हैं और वे पहले से कई बीमारियों के शिकार हैं। देखा जाए तो भारत का कोरोना से जंग जीतने का प्रतिशत और देशों के मुकाबले में काफी बेहतर है।

8- जल्द आने वाली है वैक्सीन
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के चीफ साइंटिस्ट डॉ. रमन गंगाखेडकर का कहना है कि देश में कोरोना वायरस के तीन प्रकार नजर आ रहे हैं। इसकी वजह अलग-अलग देशों से लोगों का भारत में आना है। तीनों ही किस्मों में हाल के दौर में कोई खास बड़ा बदलाव नजर नहीं आया है, इसलिए इसकी वैक्सीन या दवा बनाने में हमें कोई दिक्कत नहीं होगी। वहीं ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने भी कहा है वह किसी भी कीमत पर सितंबर तक कोरोना की वैक्सीन की दस लाख डोज तैयार कर लेगी। कोरोना की दवा बनाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन का प्रोटोकॉल भी तोड़ा जा रहा है।

9- लगातार बढ़ रही टेस्टिंग क्षमता
आईसीएमआर की कोरोना टेस्टिंग क्षमता हर गुजरते दिन के साथ बढ़ती ही जा रही है। कुछ दिन पहले ही सरकार ने अपना प्लान भी बताया कि इसे बढ़ाकर करीब 80 हजार प्रतिदिन करना है, जो फिलहाल 37 हजार प्रतिदिन के करीब पहुंच चुका है। अब तक आईसीएमआर ने 3,83,985 सैंपल टेस्ट कर लिए हैं।

10- भीलवाड़ा मॉडल अपनाने लगे राज्य
राजस्थान के भीलवाड़ा में शुरुआती दौर में वायरस ने सबसे बुरा हाल किया हुआ था। प्रसाशन ने भीलवाड़ा की सीमाओं को सील कर दिया और सख्त लॉकडाउन लागू किया। एक-एक शख्स की टेस्टिंग की। अब हालात ये हैं तो भीलवाड़ा पूरी तरह से कोरोना से मुक्त हो चुका है और कोई भी नया मामला सामने नहीं आ रहा है। केंद्र ने बाकी राज्यों से भी कहा है कि वह भीलवाड़ा मॉडल अपनाएं और राज्यों ने इसकी शुरुआत भी कर दी है। उम्मीद की जा रही है कि अब कोरोना वायरस ज्यादा दिन नहीं टिक पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code



DESIGN BY : INDIA HOSTING DADDY

Live Updates COVID-19 CASES