BBT Times

Latest and Breaking News Samachar in Hindi from Bikaner

Covid19 : लॉकडाउन में शादी की रोचक दास्तां । जाने पूरी खबर

1 min read

BBT Times,



बीकानेर, गंगाशहर की एक लड़की अहमदाबाद में टेक्सटाइल डिज़ाइनर के रूप में जॉब कर रही थी। संजोग ऐसा बैठा की उसकी सगाई भी अहमदाबाद के एक रेडिओलॉजिस्ट चिकित्सक के साथ घर वालों की पसंद से हो गयी। वह चिकित्सक 21 मार्च को बीकानेर मंगेतर से मिलने पहुंचा । 23 मार्च को उसकी अहमदाबाद जाने की रेल की टिकट बनी हुई थी। परन्तु 22 मार्च की रात्रि से रेलों का आवागमन बंद हो गया। इस कुुंवारे चिकित्सक डाॅ. विवेक मेहता ( मूल निवासी जोधपुर) को अपने होने वाले ससुराल में ही रूकना पड़ा और कोई उसके सामने विकल्प नहीं था। डाॅ. विवेक का विवाह टेक्सटाइल डिज़ाइनर पूजा चोपड़ा पुत्री नरेन्द्र चोपड़ा के साथ 12 अप्रैल को होना तय था। शादी के कार्ड भी छप गए थे व कुछ वितरित भी हो गए। शादी के भव्य समारोह के लिए गंगाशहर का आशीर्वाद भवन भी 10 अप्रैैल से 12 अप्रैल तक बुक था। आशीर्वाद भवन वालों ने भवन को क्वारेंटाइन सेंटर में सरकार द्वारा उपयोग में ले लिए जाने के कारण भवन बुकिंग राशि लौटा दी और विवाह भी लाॅकडाउन के चलते नहीं हो सका । इधर, लाॅकडाउन 3 मई तक बढ़ गया तो डाॅ. विवेक मेहता की हालात देखते ही बनती थी । लड़की के पिता ने गंगाशहर के जैनमहासभा के अध्यक्ष जैन लूण करण छाजेड़ से बात की और अपनी समस्या रखी।छाजेड़ ने उनको बताया कहा कि एकदम सादगी से केवल परिजनों की उपस्थिति में ही घर आंगण में ही शादी कि रश्म पूरी कर लो , उनको सलाह दी की लॉकडाउन के नियमों की भी पूरी पालना की जाए। इधर, उनको पंडित जी ने 20 अप्रैल का अच्छा मुर्हुत भी बताया। लड़के के परिजन अहमदाबाद से आ नहीं सकते थे, लाॅकडाउन के चलते कोर्ट मैरिज नहीं हो सकती थी। कुुंवारा ससुराल में कब तक रहे, अजब स्थिति हो गयी। आखिर निर्णय लेकर लाॅकडाउन के नियमों की पालना करते हुए घर के आंगन में पंडित जी को बुलाकर मंत्रोच्चार के साथ सात फेरे दिलावये गये। दुल्हे का ना पापा आए, ना भाई, ना मां आ पाए, न मित्रगण और न ही परिजन । दुल्हन के अभिभावकों की उपस्थिति में घर में फेरे दिलवा दिये गये। अब डाॅ. विवेक एवं डिज़ाइनर पूजा चैपड़ा खुश हैं कि उनका दाम्पत्य जीवन एक ऐसे समय में प्रारम्भ हुआ है जब सबका जीवन घरों में कैद है।बहरहाल इस विवाह की गूंज पड़ौसियों को भी नहीं हुई और सोशल डिस्टेंसिंग के चलते नजदीकी रिश्तेदारों को भी नहीं बुलाया गया। नवदम्पत्ति को ‘‘थार परिवार’’ की तरफ से भावी जीवन के प्रति बधाइयां एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा की दाम्पत्य के किले में आपका जीवन सुरक्षित व सुखी रहे. आप हमेशा खुश रहें. आपकी जिंदगी सदा हंसती , खेलती ,गाती, गुनगुनाती मासूम रहे।आपकी यह जोड़ी जुग -जुग जिए । दुनियां में आप आगे बढ़ते जाएँ व आपकी तरक्की की गति तेज होती जावे ।आपके सुदीर्घ व कल्याणकारी जीवन की मंगलकामनाएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code



DESIGN BY : INDIA HOSTING DADDY

Live Updates COVID-19 CASES