BBT Times

Latest and Breaking News Samachar in Hindi from Bikaner

मानवता एवं ईमानदारी की अद्भुत मिसाल, दूध वाले ने पेश की । जाने पूरी खबर

1 min read

BBT Times, बीकानेर



बीकानेर, कोरोना महामारी में जहां सारा संसार परेशानियों से संघर्ष कर रहा है वही मानवता एवं ईमानदारी की अद्भुत मिसाल मिली है। गांव बापेऊ तहसील श्रीडूंगरगढ़ निवासी मुखराम ज्याणी अपने गांव से खारा बीकानेर में दूध सप्लाई करके वापस लौट रहे थे तो रात को करीब 12 बजे सेरूणा और सूडसर के बीच रास्ते में एक अटैची गिरी हुई देखी। उन्होंने अपनी गाड़ी को रोका और अटैची को उठाया। आसपास सुनसान था, कोई नजदीक किसी गाड़ी या व्यक्ति के निशान भी नहीं थे। उन्होंने उसको खोल कर देखा तो अंदर लाखों रुपए के कीमती जेवरात व वस्त्र थे। देर रात घर पहुंचने के बाद अगली सुबह जल्दी उन्होंने गांव के लोगों को यह सूचना दी और विचार विमर्श किया कि कैसे इस अटैची को उसके मूल मालिक तक पहुंचाई जाए। लॉकडाउन में जहां एक दूसरे के पास आना-जाना मुश्किल होता है, तब गांव के ही ई-मित्रा संचालक कैलाश मैया को एक आइडिया आया और उन्होंने उस अटैची की फोटो खींच सोशल मीडिया पर वायरल की और लिखा ‘अगर किसी भाई के भी हो तो वह अपनी पहचान बता कर इस अटैची को ले जाए।’ कुछ ही घंटों में यह सूचना पूरे क्षेत्र में फैल गई और स्वरूपदेसर गांव निवासी मूल मालिक धर्माराम ने अपना परिचय बता कर यह जेवर व वस्त्र आदि अपने बताए। गांव वासियों ने आदर सहित उनका सारा सामान लौटा दिया। अपनी गाढ़ी कमाई और जीवन भर की संचित निधि को खोकर पूरी रात से बेचैन हुए धर्माराम ने मुखराम एवं उनके परिवारजनों तथा साथियों का आभार जताते हुए कहा कि हमें यकीन हो गया है कि धर्म और इमानदारी अभी भी जिंदा है और मुखराम ने इसकी एक मिसाल दी है।
आदर्श जाट महासभा अध्यक्ष एडवोकेट जयकिशन भारी ने सारी जानकारी देते हुए बताया कि सोशल मीडिया और फोन पर मुखराम ज्याणी का सम्मान किया जाएगा तथा जैसे ही लॉकडाउन खत्म हो जाएगा मुखराम को सम्मानित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code



DESIGN BY : INDIA HOSTING DADDY

Live Updates COVID-19 CASES